Hero Company Ka Malik Kon Hai

Hero Company Ka Malik Kon Hai, नमस्कार दोस्तों आपका हमारे ब्लॉग पर स्वागत है, हर बार की तरह आज फिर हम आपके लिए एक अच्छी पोस्ट लाए हैं दोस्तो अगर आप जानना चाहते हैं, की हीरो कंपनी का मालिक कौन है, हीरो कंपनी की शुरुआत कैसे हुई हीरो कंपनी का इतिहास क्या है, हीरो कंपनी से जुड़ी और भी कई सारी जानकारियों तो आप इस लेख को एक बार पूरा जरूर पढ़ें

हीरो कंपनी क्या है

हीरो कंपनी एक वाहन मैन्युफैक्चरिंग और वाहन बेचने वाली कंपनी है, जोकि एक भरोसेमंद और काफी पुरानी कंपनी है, हम अपने आस पास अधिकतर दुपहिया वाहन मैं हीरो की बाइक अधिक देखते हैं।

Hero Company Ka Malik Kon Hai

हीरो कंपनी का मालिक बृजमोहन लाल मुंजाल है जिनका जन्म पाकिस्तान के कमालिया मैं 1 जुलाई 1923 को हुआ  और इनकी मृत्यु 1 नवंबर 2015 को भारत देश के नई दिल्ली शहर में हुई बृजमोहन लाल मुंजाल के पिता भहादुर  चंद मुंजाल थे और माता ठाकुर देवी मुंजाल थी

स्वर्गीय बृजमोहन लाल मुंजाल के बेटे और बेटी उनके बेटे का नाम पवन मुंजाल, सुमन कांत मुंजाल, सुनील कांत मुंजाल,और बेटी का नाम रमन कांत मुंजाल है वर्तमान में हीरो कंपनी के मालिक पवन मुंजाल जी है

हीरो कंपनी की शुरुआत

हीरो कंपनी पहले साइकिल बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी थी यह कंपनी साइकिल बनाने का काम करती थीं हीरो कंपनी द्वारा 1984 में हौंडा कंपनी के साथ मोटर साइकिल मैन्युफैक्चरिंग करने के लिए समझौता किया और एक नई शुरुआत की इस शुरुआत के कारण इस हीरो होंडा कंपनी ने कई समस्याओं का सामना करने के बाद कई ऊंचाइयों और उपलब्धियो को छुआ

दोस्तों दुनिया की सबसे बड़ी टू व्हीलर कंपनी हीरो की शुरुआत 19 जनवरी 1984 में जापान की होंडा कंपनी के साथ मिलकर धारूहेड़ा हरियाणा से की गई

हीरो किस देश की कंपनी है

हीरो कंपनी भारत देश की है हीरो कंपनी का पूरा नाम मोटोकॉर्प लिमिटेड है, सन 2010 से पहले इस कंपनी का नाम हीरो होंडा था, लेकिन 2010 के बाद जब हीरो और हौंडा कंपनी अलग-अलग हुई तब हीरो का नाम मोटोकॉर्प लिमिटेड रख दिया गया

हीरो कंपनी का मुख्यालय कहां है

हीरो एक भारतीय कंपनी है जिसकी शुरुआत भारत से की गई थी, हीरो कंपनी का मुख्यालय भारत देश के नई दिल्ली में है

हीरो कंपनी के Ceo कौन है

स्वर्गीय बृजमोहन लाल मुंजाल के निधन के बाद हीरो कंपनी के Ceo, chairman, MD पवन मुंजाल जी को बनाया गया है पवन मुंजाल जी का जन्म 1965 में हुआ था

हीरो कंपनी के बारे में

स्थापना             –     19 जनवरी 1984

मालिक             –      स्वर्गीय बृजमोहन लाल मुंजाल

वर्तमान मालिक   –     पवन मुंजाल

मुख्यालय          –      नई दिल्ली

कुल संपत्ति        –      31,517 करोड

हीरो और हौंडा अलग-अलग क्यों हुए

हीरो कंपनी इंडिया में साइकिल बनाने के कारण बहुत ज्यादा प्रचलित थी हीरो कंपनी हीरो हौंडा मोटरसाइकिल के लिए बॉडी बनाती थी और मोटरसाइकिल का इंजन जापान की कंपनी होंडा बनाती थी इसके बाद उस इंजन को भारत में भेजा जाता था और उस इंजन से हीरो होंडा बाइक तैयार की जाती थी, हीरो कंपनी को हीरो हौंडा कंपनी के कम शेयर का हिस्सा मिलता था तथा अधिक शेयर का हिस्सा जापान हौंडा को मिलता था लेकिन फिर भी कंपनी ने काफी टाइम तक हीरो हौंडा कंपनी को संयुक्त मैं रख कर कार्य किया

हीरो हौंडा कंपनी का समझौता जब हुआ तब हौंडा द्वारा एक प्रस्ताव रखा गया जिसमें होंडा कंपनी द्वारा कहा गया  कि आप हीरो हौंडा मोटरसाइकिल को केवल भारत और इसके कुछ ही पड़ोसी देशों में ही बेच सकते हो हीरो कंपनी हीरो हौंडा बाइक को विदेशों में कहीं भी नहीं बेच सकती थी जिसके कारण भी हीरो कंपनी होंडा से अलग हो गई

हीरो कंपनी ने 2010 तक खुद का इंजन बना लिया था  और सारा काम तो हीरो कंपनी ही कर रही थी बस जापान का तो इंजन था इसलिए जब हीरो कंपनी खुद का इंजन बन चुकीं थी तो फिर उसने स्वय के द्वारा ही अपनी पूरी मोटरसाइकिल तैयार कर ली

2010 में हीरो कंपनी ने कहां की 2010 में हीरो हौंडा की बाइक ना बेच कर केवल हम हीरो की बाइक बेचेंगे और फिर इसी कारण 2010 में ही हीरो होंडा अलग-अलग 2 कंपनी हो गई.

Hero Company से जुड़े कुछ FAQs:

Q. हीरो की स्थापना कब हुई?

Ans.  हीरो मोटरसाइकिल की स्थापना 19 जनवरी 1984 को धारूहेड़ा हरियाणा से की गई थी।

Q. हीरो कंपनी के संस्थापक कौन थे?

Ans. हीरो कंपनी के संस्थापक स्वर्गीय बृजमोहन लाल मुंजाल जी है।

Q. वर्तमान में हीरो के मालिक कौन है?

Ans. वर्तमान में कंपनी के मालिक पवन मुंजाल जी है।

Q. हीरो किस देश की कंपनी है?

Ans. हीरो भारत देश की कंपनी है।

निष्कर्ष

तो दोस्तों आज आपको इस लेख Hero Company Ka Malik Kon Hai के माध्यम से हीरो कंपनी का मालिक कौन है से लेकर हीरो कंपनी से जुड़ी कहीं सारी जानकारियां मिल चुकी है

साथ ही अगर आपको हमारा यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें

Leave a Comment