ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है | जाने ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में

Operating System kya Hai, नमस्कार दोस्तो आपका एक बार फिर से मेरी website पर स्वागत है। मै आशा करता हूँ की आपको मेरी सारी post पसंद आ रही होगी। मेरी सभी पोस्ट मै यही उम्मीद रहती है, की मे आपके लिए पोस्ट मे सारी की सारी जानकारी दे सकु, ताकि आपको उस टॉपिक का ज्ञान अधूरा ना रहे, और आप हमारे साथ इसी तरह बने रहे और पोस्टे पढ़ते रहे। तो दोस्तो आज की हमारी इस पोस्ट पोस्ट मे हम आपको ऑपरेटिंग सिस्टम से बारे में बटाऊगा की ऑपरेटिग क्या है और कैसे काम करता है। तो चलिए दोस्तो हम आज की पोस्ट की तरफ बढ़ते है।

एक Operating System हार्डवेयर और कम्प्युटर यूजर के बीच मध्यस्था का कार्य करता है। Operating System बहुत दक्षता व सरलता के साथ सभी एप्लिकेशन प्रोग्राम्स को मेसेज करता है। OS यूजर प्रोग्राम को Execute करके यूजर प्रॉबलम को आसानी से सोल्व करता है।

Operating System kya Hai

ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर है, जो कम्प्युटर को कार्य करने योग्य बनाता है। यह हमारे द्वारा प्रयोग मे लिए जाने वाले सभी प्रोग्रामो को चलाने में सहयोग करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम हार्डवेयर को कंट्रोल करता है। बिना ऑपरेटिंग सिस्टम के कोई भी कोम्प्यूटिंग डिवाइस काम नहीं कर सकती है। अत: ऑपरेटिंग सिस्टम कई डिवाइसो के लिए जरूरी है जैसे कम्प्युटर, मोबाइल डिवाइस और विडियो गेम और सुपर कम्प्युटर आदि। डेस्कटॉप ऑपरेटिंग सिस्टम के कुछ उदाहरण ये है- माइक्रोसॉफ्ट, विंडो, मेक, ओएस आदि। विण्डो, IOS, Symbian आदि।

ओपरेटिंग सिस्टम के कार्य

Operating system कई सारे प्रोग्रामो का समूह है, जो कम्प्युटर के समस्त क्रियाकलापो और गतिविधियो को नियत्रण करता है, इसके आधार पर operating system के कार्य निम्नलिखित है।

Memory management

यह किसी प्रोग्राम या डाटा के लिए प्राइमरी तथा सैकेण्डरी मेमोरी का वितरण करता है। अथार्थ मेमोरी मे छोटे-छोटे खाने होते है, तथा प्रत्येक पद एक address होता है। Operating system यह फ़ैसला करता है, की मेमोरी किस हिस्से को प्रयोग करना है।

 Processor Management

यह कई तरह को process संबंधी कार्यो को उपलबध करता है। OS यह Check करता है, की processer खाली या फिर कुछ का कर रहा है।

File management

ऑपरेटिंग सिस्टम किसी भी प्रकार के डाटा या प्रोग्राम को किसी भी फ़ाइल मे स्टोर करता है।

Device Management

ऑपरेटिंग सिस्टम सभी input/output device को नियत्रित करता है।

यह Security management भी करता है

Operating system के विभिन्न प्रकार

Operating system हमेशा से ही कम्प्युटर के साथ रहे है, जैसे-जैसे कम्प्युटर ने विकास किया है, वैसे ही ऑपरेटिंग सिस्टम भी अपने आप को विकसित करते गए।

ऑपरेटिंग सिस्टम के कुछ प्रक्रम इस प्रकार है।

Mulh-user Operating System

यह Operating system एक से अधिक उपयोगकर्ताओ को एक साथ कार्य करने की सुविधा प्रदान करता है।

Single-User Operating system

Single user Operating system एक समय मे सिर्फ एक ही उपयोगकर्ता को कार्य करने देता है।

Multitasking operating system

यह Operating system उपयोगकर्ता को एक साथ कई अलग-अलग  प्रोग्राम्स चलाने की सुविधा देता है।

Multi processing Operating system

यह Operating system एक प्रोग्राम को एक से अधिक CPU पर चलाने की सुविधा देता है।

Real time operating system

Real Time operating system  उपयोगकर्ता द्वारा दिए गए input पर तुरंत प्रक्रिया करता है। window operating system इसका सबसे अच्छा उदाहरण है।

Operating system की विशेषताएँ

  • Primary memory को track करता है।
  • Processor का सयम रखता है अर्थात manage करता है।
  • कम्प्युटर से जुड़े हुए सभी डिवाइसो को मैनेज करता है।
  • हार्डवेयर सॉफ्टवेयर को मैनेज करता है।
  • Error से अवगत करवाता है।

प्रमुख ऑपरेटिंग सिस्टम के नाम

  1. Window os
  2. Mac os
  3. Linuv od
  4. Ubunt
  5. Android os
  6. ios
  7. ms-Dos
  8. symbian os

ऑपरेटिंग सिस्टम के फंक्शन

Operating System के फंक्शन निम्नलिखित है-

  • रिसोर्स मैनेजर

कम्प्युटर के लिए सभी रिसोर्सज को उपलबध करवाता है, जिसमे मुख्यत:  मेमोरी मैनेजर, प्रोसेसर मैनेजर, डिवाइस मैनेजर आदि होते है। एक ऑपरेटिंग सिस्टम कई बेसिक कार्य करता है जैसे की कंट्रोलिंग और मेमोरी, एप्लिकेशन, इनपुट, आउटपुट डिवाइस को कंट्रोल नेटवर्किंग  को मजबूत करना, फ़ाइल सिस्टम मैनेज सॉफ्टवेयर की शेयरिंग को अलाद करना।

  • एप्लिकेशन और यूजर के बीच इंटरफेस

ऑपरेटिंग सिस्टम यूजर के लिए इंटरफेस की तरह कार्य करता है।

  • प्रोग्राम एकव्यूकशन

एप्लिकेशन प्रोग्राम और मशीन हार्डवेयर के बीच इंटरफेस की तरह कार्य करता है।

निष्कर्ष

दोस्तो अब आप Operating System kya Hai के बारे में पूरी तरह से सीख गए होंगे। सिस्टम कार्य कैसे करता है, इसकी विशेषताएँ तथा प्रकार के बारे मे आज आपने इस टॉपिक में सीखा। उम्मीद करता हूँ की आपको पोस्ट पसंद आई होगी। दोस्तो अगर आपको मेरी यह पोस्ट आपको अच्छी लगी तो आप इसे अपने दोस्तो और परिवार के लोगो के साथ शेयर जरूर करे। अगर इस पोस्ट को पढ़ कर आपके मन में कोई शंका या कोई सवाल या सुझाव हो तो आप मुझे कमेंट करके बता सकते है, मै आपकी शंका को दूर करने की पूरी पूरी कोशिश करूंगा। आप इसी तरह मेरे साथ बने रहे।

Paise Kaise Kamaye

Hello दोस्तों मेरा नाम Pawan Kumar है मैं इस ब्लॉग का Writer और Founder हूँ और इस वेबसाइट के माध्यम से पैसे कमाने के बारे में जानकारी Share करता हूँ। ��

Leave a Comment