RO Full Form In Hindi

क्या आपको पता है, की RO Full Form In Hindi क्या होती है और ro का प्रयोग कहा कहा पर किया जाता है। दरअसल RO एक शॉर्टकट शब्द है, जिसका प्रयोग अलग अलग छेत्रो में किया जाता है। इसका प्रयोग चिक्तिसा छेत्र से लेकर मनोरंजन और पानी को सुध करने की प्रक्रिया सभी मे किया जाता है। लेकिन आरओ का सबसे ज़्यादा प्रयोग पानी को सुद्ध करने की तकनीक से लिया जाता है। ऐसे सवाल हमे एग्जाम में शॉर्टकट फुल फॉर्म के रूप में पूछे जाते है, ऐसे में हमे RO की जितनी भी शॉर्टकट फुल फॉर्म है, उनके बारे में जानकारी होना जरूरी है। आज हम आपको RO Full Form In Hindi का अर्थ ओर इस तकनीक के फायदे ओर नुकशान के बारे में बताने वाले है।

बढ़ती हुई जनसंख्या ओर पानी का कम होने के कारण पानी को फिल्टर करके पीना बहुत जरूरी हो गया है, जिससे कि हमे सुद्ध जल पीने को मिले और हमे बीमारियों का सामना नही करना पड़े। ओर इसके लिए आपको रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, लोगो के घरों में RO देखने को मिलते है। लेकिन ग्रामीण इलाकों में बहुत कम देखने को मिलता है। क्योंकि शहरी इलाकों की तुलना में गावो में तकनीक बहुत देर से पहुचती है। ऐसे में अगर आप भी ऐसे लोगो की श्रेणी में आते है, जिसको RO के बारे में जानकारी नही है, तो कोई बात नही है। यहां पर हम आपको RO क्या होता है, RO Full Form In Hindi में क्या होती है और पानी को फिल्टर कैसे किया जाता है।

यह भी पढे: WTF Full Form In Hindi

RO Full Form In Hindi-

Ro full form को reverse osmosis के नाम से जाना जाता है। RO पानी मे विषैले पदार्थो को अलग करके पिने योग्य उच्च गुणवत्ता वाले जल उपलब्ध करवाने की टेक्नोलॉजी है। इसको इस प्रकार से बनाया गया है,की यह मशीन fluoride ओर arsenic जैसे विषैले तत्वों को अलग कर देता है। जिससे की पानी के सुद्धता की मात्रा बढ़ जाती है ओर हमारे स्वास्थ्य को मजबूती प्रदान करती है।

प्राचीन समय मे लोग नदियों, झरनों का पानी पीते थे और उन लोगो की उम्र भी बहुत ज़्यादा होती थी। क्योंकि उस समय पानी प्रचुर मात्रा में होता था। जो हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता था। लेकिन धीरे धीरे जनसंख्या बढ़ने के कारण ओर जलस्तर कम होने के कारण पिने योग्य पानी की कमी होने लग गयी है। ऐसे में धीरे धीरे नई नई टेक्नोलॉजी सामने आ रही है। और RO भी एक ऐसी ही टेक्नोलॉजी है, जो असुद्ध पानी को भी फ़िल्टर करके सुद्ध पानी बना देता है।

Ro की फुल फॉर्म को हिंदी में क्या कहते है – RO Full Form In Hindi

Ro की full form को हिंदी भाषा मे विपरीत प्रसारण कहते है। रिवर्स ओसमोसिस में विलायकीय अर्ध्य परगामीये झिल्ली के सामने वाली दिशा में अर्थार्थ विपरीत दिशा में गुजरता हुवा चलता हैं। इसमे Ro पानी शोधक के पंप द्वारा असुद्ध पानी जिसमे flouride, arsenic आदि तत्व मील हुए होते है, तो यह अधिक सांद्रता से कम सांद्रता में बदलने के लिए दबाव बनाता है, जिससे पानी असुद्ध से सुध हो जाता है। लेकिन वर्तमान समय मे इसके भी दुष्परिणाम देखने को मिल रहे है।

असुद्ध पानी को पीने योग्य बनाने की तकनीकों में सबसे ज़्यादा RO Purifying Process  पंसद किया जा रहा है। क्योकि यह अन्य सभी डिवाइसों की तुलना में आसान, सस्ता, सुलभ है, जो बहुत कम समय मे पानी के असुद्ध तत्वों को निकालकर पानी को पीने योग्य बना देता है। आज के समय मे आपको स्कूल, कॉलेज, घरों में , आफिस में सभी जगह RO का पानी पीने को मिलता है। इसके एक कारण यह भी है, की यह असुद्ध पानी से TDS को अच्छे से हटा देता है ओर आपको खारे पानी को सुध करके पाइन योग्य पानी देता है। लेकिन इस प्रोसेस में आपको 3 लीटर पानी में 1 लीटर पानी ही पिने योग्य मिलता है।

यह भी पढे: Window 11 IOS File Download Kiase Kare

क्या Ro से फ़िल्टर किया हुआ पानी हमारे स्वास्थ्य को नुकशान पहुचता है – Ro full form

पिछले कुछ समय से देखा जाए तो न्यूज़ ओर स्वास्थयिक एजेंसियों ने Ro के द्वारा सुद्ध किये गए पानी की गुणवत्ता आदि के ऊपर सवाल उठाए है। क्योंकि इन सबका कहना है, की Ro तकनीक से सुध किये गए पानी में सभी आवश्यक पोषक तत्व भी नष्ट हो जाते है। इस कारण हमारे शरीर को आवश्यक पोषक तत्व नही मिल पाते है। लेकिन क्या हम Ro का पानी पीना ही छोड़ दे, ऐसा बिल्कुल भी नही है। क्योंकि मार्किट में ऐसी बहुत सारी टेक्नोलॉजी आ चुकी है, जिससे आप मिनरल वाटर के सभी आवश्यक तत्व प्राप्त कर सकते है।

Ro का पानी शरीर को नुकशान क्यों पहुचता है

1. जब हम Ro के द्वारा पानी को सुद्ध करते है, तो उसमें से सभी मिनरल्स निकल जाते है, जो कि हमारे शरीर के लिए पोषण देने वाले होते है।

2. Ro से पानी को सुद्ध करने के बाद पानी के ph का मान बहुत कम हो जाता है।

जब हम ro से पानी को सुद्ध करते है, तो इसमे मौजूद सभी मिनरल्स सुद्धता की प्रक्रिया में नष्ट हो जाते है। इसमे कैल्शियम और मैग्नेशियम ओर फ्लोराइड, आर्सेनिक बहुत प्रकार के मिनरल्स होते है। इसमे कैल्शियम और मैग्नेशियम हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते है। लेकिन ro से सुद्ध करने में सभी मिनरल्स निकल जाते है। ऐसे में लगातार सुद्ध पानी पीने से हमारे शरीर मे मिनरल्स की कमी होने लगती है।

अगर आप लगातार कुछ सालों तक या महीनो तक ro का पानी पीते हो तो आपको ह्दय, थकान ओर सिरदर्द की समस्या हो सकती है। ऐसे में Ro का पानी लाभ देने की जगह नुकशान भी दे सकता है।

यह भी पढे: Google Mera Naam Kya Hai

तो क्या हमको RO का पानी पीना बंद कर देना चाहिए

ऐसा बिल्कुल नही लेकिन आप RO के सुद्ध पानी मे मिनरल, कैल्शियम, मैग्नेशियम अतिरिक्त मात्र में मिला सकते है। या फिर किसी विशेषज्ञ से यह काम करवा सकते है, जिससे कि RO का पानी हमारे शरीर को नुकशान ना पहुचाये। क्योकि जब हम इसमे कैल्शियम और मैग्नेशियम जैसे पोषक तत्व मिलते है, तो इसके ph का मान बढ़ जाता है, जो हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है।

निस्कर्ष –

इस लेख में हमने आपको RO Full Form In Hindi के बारे में बताया है। जिसमे  RO तकनीक के द्वारा असुद्ध पानी को सुद्ध किया जा सकता है। बढ़ती हुई जनसंख्या के कारण वातावरण की हर वस्तुओं की गुणवत्ता में गिरावट देखने को मिल रही है। ऐसे में हमे हमारे स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखना चाहिए। अगर आपके पास RO फुल फॉर्म से सम्बंधित कोई सवाल है, तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते है।

यह भी पढे: BSNL SIM Ka Number Kiase Pata Kare

Hello दोस्तों मेरा नाम Pawan Kumar है मैं इस ब्लॉग का Writer और Founder हूँ और इस वेबसाइट के माध्यम से पैसे कमाने के बारे में जानकारी Share करता हूँ। ��

Leave a Comment